किसानों और पावर कारपोरेशन में बढ़ा टकराव, 21 सितंबर को घरेंगे विधानसभा

0
32

मेरठ । पश्चिमांचल के 14 जिलों में निजी नलकूपों पर लगाए जा रहे मीटरों को लेकर पश्चिमांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड एवं किसानों के बीच टकराव तेज हो गया। मेरठ सहित विभिन्न जिलों में नलकूपों में लगाए जा रहे मीटरों को किसानों ने उखाड़कर संबंधित एक्सईएन के दफ्तर पर डालना शुरू कर दिया। वहीं, किसान मजदूर संगठन के बैनर तले किसानों ने 21 सितंबर को लखनऊ में विधानसभा घेराव का ऐलान कर दिया।

संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर पूरन सिंह ने बताया कि ऊर्जा भवन पर विभिन्न मांग को लेकर पिछले दिनों धरना दिया था। एमडी अरविंद मल्लप्पा बंगारी के कई दौर की वार्ता हुई। इसमें तय हुआ था कि किसानों की शासन स्तर पर वार्ता कराई जाएगी, लेकिन यह आश्वासन पूरा नहीं हुआ। दूसरे, किसानों के विरोध के बावजूद बिजली अधिकारी ठेकेदारों पर सख्ती कर निजी नलकूपों पर मीटरों के लगाए जाने का काम तेजी से करा रहे हैं। उनका कहना है कि किसान नलकूपों पर मीटर नहीं लगने देगा। यदि पावर कारपोरेशन मीटर लगाएगा तो किसान उन्हें उखाड़कर लाकर बिजली अधिकारियों के दफ्तर में डाल देंगे। बताया कि इस मुद्दे पर संगठन के बैनर तले 21 सितंबर को विधानसभा का घेराव करेंगे। बुधवार को संगठन के जिलाध्यक्ष ठाकुर देवराज सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों ने धरना दिया था और लगाए गए मीटरों को उखाड़कर ले आए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here