बाल श्रम विभाग ने मारा छापा

0
56

सरूरपुर। मंगलवार को बाल श्रम मजदूरी से मुक्ति दिलाने के लिए बाल श्रम विभाग ने वेबसाइट हेल्पलाइन द्वारा एक संयुक्त अभियान चलाया गया। सरूरपुर क्षेत्र के कस्बा हर्रा में प्रतिष्ठानों, फैक्ट्रियों, दुकानों आदि समेत दर्जन भर स्थानों पर छापे मारे जहां एक-दो जगह पर बाल श्रम करते हुए मौके पर बच्चे मिले जिनकी टीम ने डॉक्टरी परीक्षण कराने की बात कही है।

मंगलवार को बाल श्रम विभाग उत्तर प्रदेश, बाल संरक्षण आयोग दिल्ली, एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग पुलिस, चाइल्ड हेल्पलाइन, भारी पुलिस बल तथा प्रशासन की टीम ने सरूरपुर क्षेत्र के दर्जनभर प्रतिष्ठानों, फैक्ट्री और दुकानों पर छापामार अभियान चलाया। अभियान का उद्देश्य बाल श्रम मजदूरी रोकने का था। इस दौरान प्रतिष्ठानों में दुकानों पर टीम द्वारा की गई छापामार कार्रवाई को लेकर हड़कंप मचा रहा। हालांकि, टीम को कस्बा हर्रा में एक बाइक और एक मिठाई की दुकान पर बाल श्रम करते हुए दो बच्चे मिले। इस पर प्रतिष्ठानों के मालिक को हड़काया। इस संबंध में बाल श्रम की विभागीय अधिकारी उषा पटेल ने बताया कि दो स्थानों पर बच्चे बाल मजदूरी करते हुए पाए गए हैं। उनका बुधवार को डॉक्टरी परीक्षण कराते हुए विधिक कार्रवाई कर परिजनों को सौंपा जाएगा। इसके अलावा बाल श्रम सिद्ध होने पर प्रतिष्ठानों के मालिक के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। टीम ने कस्बा हर्रा, जैनपुर, मैनापूठी, जसड़ सहित आधा दर्जन से अधिक गांवों में एक दर्जन प्रतिष्ठानों तथा दुकानों पर छापा मारा। चाइल्ड हेल्पलाइन की अनीता राणा ने बताया कि इस प्रकार के अभियान लगातार जारी रहेंगे और बाल श्रम रोका जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here