मेरठ में महिला ने दो प्रेमियों के साथ मिलकर की तीसरे प्रेमी की हत्या

0
51

मेरठ । मेरठ में तीन दिन पहले हुई ट्रांसपोर्टर की हत्या के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पहले पुलिस ट्रांसपोर्टर की मौत को संदिग्ध मान रही थी। मगर, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने केस का खुलासा किया। पुलिस ने ट्रांसपोर्टर की प्रेमिका संजो के साथ उसके दो प्रेमी युवकों को गिरफ्तार कर लिया। ट्रांसपोर्टर की बाइक भी बरामद कर ली गई है।

परतापुर थाना क्षेत्र में बहादुरपुर-अच्छरौंडा मार्ग पर रविवार सुबह ट्रांसपोर्टर चमन (38 साल) पुत्र नवाब निवासी गगोल थाना परतापुर का शव मिला था। वह रात में अपने हेल्पर राजकुमार के साथ निकला था। अगली सुबह सड़क किनारे उसका शव मिला, लेकिन बाइक नहीं थी। परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। पुलिस की जांच में सामने आया की ट्रांसपोर्टर चमन की महिला संजो से बातचीत होती थी।

पुलिस ने संजो को गिरफ्तार कर सख्ती से पूछताछ की, तो पूरा केस खुल गया। 21 मई की रात को संजो ने अपने घर प्रेमी ट्रांसपोर्टर चमन को बुलाया। वहां पहले से महिला के दो प्रेमी रोहित उर्फ बादल निवासी परतापुर और सहदेव निवासी अच्छरौंडा पहले से मौजूद थे। महिला ने पहले प्रेमी चमन को शराब पिलाई। उसके बाद जब उसे नशा हो गया तभी अपने दोनों प्रेमी के साथ मिलकर पीटा।

उसके बाद संजो ने चमन का सिर दीवार और फर्श में पटका। उसके मरने के बाद रोहित और सहदेव ट्रांसपोर्टर के शव के शव को एक किमी दूर सड़क किनारे फेंक आए।

परतापुर इंस्पेक्टर शैलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि संजो की पांच माह पहले चमन से दोस्ती हुई थी। इसके बाद दोनों में अवैध संबंध हो गए। संजो मुजफ्फरनगर के जानसठ थाना क्षेत्र के गढ़ी गांव की रहने वाली है। वह अच्छरौंडा में बिजेंद्र के मकान में रहती है।

पुलिस ने बताया की संजो के तीन प्रेमी थे। चमन के अलावा महिला के रोहित और सहदेव से भी संबंध थे। इस बात का पता चलने पर दोनों युवक संजो का विरोध कर रहे थे कि वह ट्रांसपोर्टर चमन का साथ छोड़ दे। ऐसा नहीं करने पर दोनों उसकी हत्या की धमकी दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here