लोन ऐप से रहिए सावधान! 

0
15

मेरठ । लोन की बात करें तो बैंक इंस्टेंट लोन यानि झटपट कर्ज जैसे शब्द का इस्तेमाल करते दिखेंगे। यह केवल खाना पूर्ति होती है। असल में बैंक लोन की प्रक्रिया लंबी ही होती है। अब साइबर अपराधियों ने भी इस शब्द को अपना हथियार बनाया है। जिले में पिछले पांच महीने में 70 से अधिक लोन ऐप से ठगी के मामले सामने आए हैं, जिसके बाद सनसनी फैली है। रिजर्व बैंक को ऐसे 123 फर्जी ऐप की लिस्ट भेजकर इन्हें तत्काल बन्द कराने का आग्रह किया गया है।

सोशल मीडिया साइबर अपराधियों के लिए सॉफ्ट टारगेट बन गया है। यहां ऐसा जाल बिछाया गया है कि लोग आसानी से इनके शिकार हो रहे हैं। फेसबुक, व्हाट्सएप जैसे प्लेटफार्म पर आकर्षक नाम वाले ऐप डालकर हर महीने लाखों की ठगी की जा रही है। इन ऐप के जरिये ठग मोबाइल का कन्ट्रोल प्राप्त कर लेते हैं। पांच से दस हजार के लोन के लालच में आवेदक अपनी सारी जानकारी साइबर अपराधी से साझा कर मुसीबत में फस जाता है। इसके बाद ऐसा खेल शुरू होता है, जिससे बच पाना संभव ही नही होता।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here