शिवरात्रि के लिए औघड़नाथ मंदिर में सजा मेला

0
35

मेरठ । मेरठ के ऐतिहासिक काली पलटन मंदिर में शिवभक्तों के स्वागत के लिए मेला सज चुका है। मेले में लोगों को झूलों, गुब्बारों से लेकर घर के सजावटी सामान और टैटू गुदवाने की दुकानें भी मिलेगीं। मंदिर के बाहर मेले में लोगों की जरूरत के हर सामान की दुकान है।

इसके अलावा मेले में झूलों से लेकर मेंहदी, बर्तन, टैटू, खिलौने, बच्चों की स्टेशनरी, गुब्बारे, चश्मे, कपड़े, चूडि़यां, सिंदूर, ज्वैलरी, पूजन सामग्री, धार्मिक पुस्तकों से लेकर नग, रत्नों की दुकानें भी लगती हैं।

मेले में कन्नौज से उमाशंकर अपने साथ साक्षात भोलेनाथ यानी नागदेवता को लाए हैं। उमाशंकर ने बताया कि हर साल सावन की शिवरात्रि पर वो मेरठ आते हैं। यहां आकर वो भक्तों को नागदेवता का दर्शन कराते हैं। भक्त दर्शन के बदले नागदेवता को जो दक्षिणा अर्पण करते हैं उसी से उनका गुजारा चलता है।

मेले में टैटू के लेटेस्ट डिजायन के साथ ही छापे वाली मेंहदी का भी स्टॉल लगा है। कांवड़ियों से लेकर आम जनता इन दुकानों पर जाकर टैटू बनवाती है। टैटू आर्टिस्ट शिवम ने बताया दिल्ली मेट्रो स्टेशन के बाहर टैटू स्टॉल लगाता हूं। इस बार कांवड़ यात्रा में मंदिर के इस मेले में स्टॉल लगाने आया हूं। ज्यादातर लोग शिवजी से जुड़े प्रतीक चिन्हों, उनके नाम और आकृति का टैटू बनवा रहे हैं।

औघड़नाथ मंदिर के सामने की सड़क पर एक तरफ दुकानें सजी हैं, सामने की सड़क पर लाइन से भंडारा लगा है। स्थानीय लोगों के अलावा राजस्थान, हरियाणा के लोगों ने भी यहां सेवा शिविर लगाए हैं। इन सेवा शिविरों में शिवभक्तों के लिए भोजन, प्रसाद बनाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here